fbpx

ट्यूबल ब्लॉकेज में मातृत्व का आसान जरिया आई वी एफ

ivf treatments
Pregnancy Success Rate in IVF
May 3, 2019
IVF center in india
“Hands that serve are holier than lips that pray.”
May 8, 2019

ट्यूबल ब्लॉकेज में मातृत्व का आसान जरिया आई वी एफ

fallopian tube blockage

मां बनने की इच्छा रखने वाली महिलाओं के गर्भधारण नहीं कर पाने का एक बड़ा कारण फैलोपियन ट्यूब का ब्लॉक होना है। ज्यादातर महिलाओं को यह नहीं पता होता है कि उनकी फैलोपियन ट्यूब में ही किसी भी तरह की समस्या होने से वह गर्भधारण नहीं कर पा रही है। यदि फैलोपियन ट्यूब में बाधा हो तो अंडे और शुक्राणु का मिलन नहीं हो पायेगा जिससे निषेचन की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पायेगी । ब्लॉकेज की समस्या एक या दोनों ट्यूबों में हो सकती है और 40 फीसदी मामलों में महिलाओं में बांझपन का कारण फैलोपियन ट्यूब ब्लॉकेज है।

फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज के लक्षण

  • इन्दिरा आई वी एफ गुडगाव की आई वी एफ स्पेशलिस्ट डॉ. निधि सलूजा का कहना है कि ऐसे कोई ठोस लक्षण नहीं है जो यह बताएं कि महिला में ट्यूबल ब्लॉकेज की समस्या है फिर भी गर्भवती होने की कोशिश करने वाली कुछ महिलाओं को इस अवधि के दौरान पेशाब के दौरान दर्द,पीरियड्स के समय दर्द और यौन क्रिया के दौरान दर्द हो सकता है। यदि ऐसा महसूस होता है तो डॉक्टर से परामर्श करना उचित है। एक प्रकार की ब्लॉक फैलोपियन ट्यूब जिसे हाइड्रोसाल्पिंक्स कहा जाता है जिससे ट्यूब में सूजन और तरल पदार्थ भर जाते हैं। पेट में दर्द, श्रोणि दर्द और असामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज हो सकता है।

ट्यूब में ब्लॉकेज के कारण

पेल्विक[श्रोणी] सूजन की बीमारी

-संक्रमण, स्कार टिश्यू के कारण पेल्विक क्षेत्र में सूजन हो जाती है जो ट्यूब को अवरुद्ध करने वाले हाइड्रोसाल्पिंक्स का कारण बन सकता है।

एसटीडी

-यौन संक्रमित बीमारियां क्लैमिडिया, गोनोरिया ट्यूबों को ब्लॉक कर सकती है।

एंडोमीट्रियोसिस

– ब्लॉक्ड फैलोपियन ट्यूब के सबसे आम कारणों में से एक है। पीरियड के दौरान हर महीने गर्भाशय की लाइनिंग बनती है, जो पीरियड की अवधि के दौरान झड़ जाती है। एंडोमेट्रोयोसिस से पीड़ित महिलाओं के लिए गर्भाशय के बाहर गर्भाशय की अस्तर बनती है, और अत्यधिक मामलों में फैलोपियन ट्यूबों, योनि यहां तक कि मलद्वार में भी बन सकती है। दुर्भाग्यवश, मुसीबत तब और बढ़ जाती है जब पीरियड्स में गर्भाशय का अस्तर झड़ता नहीं है और जमा हो जाता है।  यह स्थिति फैलोपियन ट्यूबों में ब्लॉकेज का कारण बनती है।

सर्जरी

-पूर्व में हुई किसी प्रकार की सर्जरी जिससे फैलोपियन ट्यूब जुड़ी होती है तो ब्लॉकेज हो सकता है। एक्टोपिक प्रेग्नेंसी का एक पूर्व ऑपरेशन भी ब्लॉकेज का कारण हो सकता है।

टीबी

-टी.बी रोग फैलोपियन ट्यूब और गर्भधारण की संभावनाओं को प्रभावित करता है।

फाइब्रॉएड

-गर्भाशय के निकट जुड़े फाइब्रॉएड की वृद्धि भी फैलोपियन ट्यूब को अवरुद्ध कर सकती है।

जन्मजात ट्यूब में ब्लॉक

-ब्लॉकेज का एक बड़ा कारण जन्मजात ट्यूब ब्लॉकेज होना भी हो सकती है।

ट्यूब ब्लॉकेज के लिए उपचार

इन्दिरा आई वी एफ जबलपुर की आई वी एफ स्पेशलिस्ट डॉ. शुभाली शर्मा बताती हैं ब्लॉकेज ट्यूब की वजह से नि:संतानता से जूझ रहे निराश दम्पतियों के लिए अब इलाज मौजूद है। जरूरत है सही समय पर सही उपचार चुनने की | ब्लॉक ट्यूब का उपचार इस बात पर निर्भर करता है कि ट्यूब कहां से ब्लॉक है, एक तरफ की बंद है या दोनों ही ट्यूब्स बंद हैं। अगर ट्यूब में पहले भी ऑपरेशन हुआ है तो ऊतकों पर निशान होने से फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज हो सकता है। निशान बहुत जटिल न हो और मात्रा में कम हो, तो लेप्रोस्कोपी सर्जरी करके ब्लॉकेज को निकाला जा सकता है।

क्षतिग्रस्त फैलोपियन ट्यूब  को ठीक करने के लिए सर्जरी की जा सकती है। यदि ट्यूब बहुत गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हैं तो यह प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है। इसके उपचार के लिए आईवीएफ तकनीक के साथ आगे बढ़ने की सलाह दी जाती है।  जिसमें प्रेगनेंसी होने की प्रबल संभावनाएं होती हैं। ब्लॉक ट्यूब से परेशान मरीजों को अपना अधिक समय व्यर्थ नहीं करते हुए समय रहते आईवीएफ के बारे में विचार करना चाहिए ।

क्या है आईवीएफ

-आईवीएफ प्रक्रिया में महिला के फैलोपियन ट्यूब में होने वाली निषेचन की प्रक्रिया को लैब में किया जाता है, और बाद में महिला के गर्भाशय में प्रत्यारोपित कर दिया जाता है, जिससे गर्भधारण हो जाता है, इसलिए महिला की ट्यूब ब्लॉक होने पर यह तकनीक सर्वाधिक लाभकारी साबित हुई है। आईवीएफ का आविष्कार भी ब्लॉक ट्यूब वाली महिलाओं को संतान सुख देने के लिए हुआ था।

फैलोपियन ट्यूब ब्लॉकेज और प्रेगनेंसी

– यदि फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज हैं, तो शुक्राणु और अंडे मिल नहीं सकते हैं। इस कारण प्रजनन निषेचन पर फर्क पड़ता है। ब्लॉक्ड फैलोपियन ट्यूबों के साथ गर्भवती होना कुछ मुश्किल है लेकिन असंभव नहीं है।

यदि दोनों ट्यूबों में ब्लॉकेज है तो गर्भावस्था संभव नहीं होगी, गर्भावस्था की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए एक महिला को आईवीएफ करवाने के लिए सलाह दी जाती है।

अगर एक ट्यूब बंद हो, तो गर्भावस्था की संभावना आधे से कम हो जाएगी। ऐसे में डॉक्टर जो फैलोपियन ट्यूब खुली हुई है,  उसके लिए प्रजनन दवाओं का सुझाव देते है जो ओवुलेशन की संभावनाओं को बढ़ा सकें।

फैलोपियन ट्यूब ब्लॉक के उपचार के बारे में इन्दिरा आई वी एफ बरेली की आई वी एफ स्पेशलिस्ट डॉ. ज्योति पांडे का कहना है

-इंदिरा आईवीएफ श्रेष्ट प्रजनन क्लीनिकों में से हैं, जिसके देश भर में 61 केंद्र हैं। इन्दिरा में अत्यधिक समर्पित और अनुभवी डॉक्टरों की एक टीम है, जिन्होंने नि:संतानता से जुडी समस्या का सफलतापूर्वक इलाज किया है। सभी केन्द्रों में उच्च सफलता दर है क्योंकि सहायक प्रजनन तकनीक एआरटी में सबसे उन्नत तकनीक का उपयोग किया जाता है|

ब्लॉकेज फैलोपियन ट्यूब महिलाओं में नि:संतानता का एक आम कारण हैं|  उपचार के अत्याधुनिक तरीकों के जरिए इन्दिरा आई वी एफ हजारों जोड़ों के चेहरों पर मुस्कान लौटाने में सफल हुआ है |

Call Back
Call Back
WhatsApp chat
Book an Appointment

X
Book an Appointment